rddhi siddhi praapt karane ke liye mantr

ऋद्धि सिद्धि प्राप्त करने के लिये मंत्र – मंत्रो की शक्ति – rddhi siddhi praapt karane ke liye mantr – mantro ki shakti

“ॐ नमो भगवते श्रीसूर्याय ह्रीं सहस्त्र-किरणाय ऐं अतुल-बल-पराक्रमाय नव-ग्रह-दश-दिक्-पाल-लक्ष्मी-देव-वाय, धर्म-कर्म-सहितायै ‘अमुक’ नाथय नाथय, मोहय मोहय, आकर्षय आकर्षय, दासानुदासं कुरु-कुरु, वश कुरु-कुरु स्वाहा।”

विधि- सुर्यदेव का ध्यान करते हुए उक्त मंत्र का १०८ बार जप प्रतिदिन ९ दिन तक करने से ‘आकर्षण’ का कार्य सफल होता है।

“ऐं पिन्स्थां कलीं काम-पिशाचिनी शिघ्रं ‘अमुक’ ग्राह्य ग्राह्य, कामेन मम रुपेण वश्वैः विदारय विदारय, द्रावय द्रावय, प्रेम-पाशे बन्धय बन्धय, ॐ श्रीं फट्।”

विधि- उक्त मंत्र को पहले पर्व, शुभ समय में २०००० जप कर सिद्ध कर लें। प्रयोग के समय ‘साध्य’ के नाम का स्मरण करते हुए प्रतिदिन १०८ बार मंत्र जपने से ‘वशीकरण’ हो जाता है।

ऋद्धि सिद्धि प्राप्त करने के लिये मंत्र – rddhi siddhi praapt karane ke liye mantr – मंत्रो की शक्ति

 

Tags: , , , , , , , ,

Leave a Comment