भूत-प्रेत बाधा की और निदान

kaise karen pahachaan bhoot-pret baadha kee aur kaise karen nidaan

कैसे करें पहचान भूत-प्रेत बाधा की और कैसे करें निदान – कैसे करें पहचान भूत-प्रेत बाधा की और कैसे करें निदान – kaise karen pahachaan bhoot-pret baadha kee aur kaise karen nidaan – pahchan bhoot-pret badha

ओम अपसर्पन्तु ते भूता: ये भूता:भूमि संस्थिता:।ये भूता: बिघ्नकर्तारस्तेनश्यन्तु शिवाज्ञया॥अपक्रामन्तु भूतानि पिशाचा: सर्वतो दिशम।सर्वेषामविरोधेन पूजा कर्मसमारभ्भे॥ कैसे करें पहचान भूत-प्रेत बाधा की और कैसे करें निदान – kaise karen pahachaan bhoot-pret baadha kee aur kaise karen nidaan – कैसे करें पहचान भूत-प्रेत बाधा की और कैसे करें निदान – pahchan bhoot-pret badha

chudail prabhaavit vyakti kee deh pusht ho

चुडैल प्रभावित व्यक्ति की देह पुष्ट हो – कैसे करें पहचान भूत-प्रेत बाधा की और कैसे करें निदान – chudail prabhaavit vyakti kee deh pusht ho – pahchan bhoot-pret badha

भूत प्रेत कैसे बनते हैं:- इस सृष्टि में जो उत्पन्न हुआ है उसका नाश भी होना है व दोबारा उत्पन्न होकर फिर से नाश होना है यह क्रम नियमित रूप से चलता रहता है। सृष्टि के इस चक्र से मनुष्य भी बंधा है। इस चक्र की प्रक्रिया से अलग कुछ भी होने से भूत-प्रेत की …

चुडैल प्रभावित व्यक्ति की देह पुष्ट हो – कैसे करें पहचान भूत-प्रेत बाधा की और कैसे करें निदान – chudail prabhaavit vyakti kee deh pusht ho – pahchan bhoot-pret badha Read More »

shanivaar ko naariyal aur baadaam jal mein pravaahit karen.

शनिवार को नारियल और बादाम जल में प्रवाहित करें। – कैसे करें पहचान भूत-प्रेत बाधा की और कैसे करें निदान – shanivaar ko naariyal aur baadaam jal mein pravaahit karen. – pahchan bhoot-pret badha

अशोक वृक्ष के सात पत्ते मंदिर में रख कर पूजा करें। उनके सूखने पर नए पत्ते रखें और पुराने पत्ते पीपल के पेड़ के नीचे रख दें। यह क्रिया नियमित रूप से करें, घर भूत-प्रेत बाधा, नजर दोष आदि से मुक्त रहेगा।एक कटोरी चावल दान करें और गणेश भगवान को एक पूरी सुपारी रोज चढ़ाएं। …

शनिवार को नारियल और बादाम जल में प्रवाहित करें। – कैसे करें पहचान भूत-प्रेत बाधा की और कैसे करें निदान – shanivaar ko naariyal aur baadaam jal mein pravaahit karen. – pahchan bhoot-pret badha Read More »

bhoot-pret baadha ke yog is prakaar hain

भूत-प्रेत बाधा के योग इस प्रकार हैं – कैसे करें पहचान भूत-प्रेत बाधा की और कैसे करें निदान – bhoot-pret baadha ke yog is prakaar hain – pahchan bhoot-pret badha

पहला योग-कुण्डली के पहले भाव में चन्द्र के साथ राहु हो और पांचवे और नौवें भाव में क्रूर ग्रह स्थित हों। इस योग के होने पर जातक या जातिका पर भूत-प्रेत, पिशाच या गन्दी आत्माओं का प्रकोप शीघ्र होता है। यदि गोचर में भी यही स्थिति हो तो अवश्य ऊपरी बाधाएं तंग करती हैं। दूसरा …

भूत-प्रेत बाधा के योग इस प्रकार हैं – कैसे करें पहचान भूत-प्रेत बाधा की और कैसे करें निदान – bhoot-pret baadha ke yog is prakaar hain – pahchan bhoot-pret badha Read More »