आठवाँ दिन

Preeti shadashtak yog kya hai

प्रीति षडाष्टक योग क्या है?

मानव प्रकृति और मन पर गहन शोध हमारे ऋषियों और ऋषियों ने हजारों साल पहले किया है। उनका विशेष उल्लेख इस प्राचीन ग्रंथ जातक पारिजात में मिलता है। ज्योतिष ने जाति चार्ट से प्रकृति की पहचान की सुविधा प्रदान की है। इसके लिए, पत्रिका में एक छह गुना योग का उल्लेख किया गया है। यह …

प्रीति षडाष्टक योग क्या है? Read More »

mahilayen aur ketu grah

महिला और केतु ग्रहमहिलाएँ और केतु ग्रह – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – mahilayen aur ketu grah – Aathavaan Din

– केतु ग्रह उष्ण, तमोगुणी पाप ग्रह है। केतु का अर्थ ध्वजा भी होता है किसी स्वग्रही ग्रह के साथ यह हो तो उस ग्रह का फल चौगुना कर देता है। यह नाना, ज्वर, घाव, दर्द, भूत -प्रेत, आंतो के रोग, बहरापन और हकलाने का कारक है। यह मोक्ष का कारक भी माना जाता है। …

महिला और केतु ग्रहमहिलाएँ और केतु ग्रह – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – mahilayen aur ketu grah – Aathavaan Din Read More »

totake

टोटके, जो बताते हैं केतु के अशुभ प्रभाव से – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – totake, jo bachaate hain ketu ke ashubh prabhaav se – Aathavaan Din

हर व्यक्ति की अपनी किस्मत होती है। कुछ लोग बहुत भाग्यशाली होते हैं तो कुछ भाग्यहीन। जन्म कुंडली में बैठे ग्रहों की चाल ही शुभ व अशुभ फल देती है। समय के साथ विभिन्न ग्रहों का प्रभाव हमारे जीवन पर पड़ता है। ज्योतिष शास्त्र में केतु को पाप ग्रह माना गया है। इसके प्रभाव से …

टोटके, जो बताते हैं केतु के अशुभ प्रभाव से – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – totake, jo bachaate hain ketu ke ashubh prabhaav se – Aathavaan Din Read More »

kundalee ke baarah bhaav mein ketu ka phal

कुंडली के बारह भाव में केतु का फल – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – kundalee ke baarah bhaav mein ketu ka phal – Aathavaan Din

1. लग्न में केतु हो तो जातक चंचल, भीरू, दुराचारी तथा वृश्चिक राशि में हो तो सुखकारक, धनी एवं परिश्रमी होता है। 2. दूसरे भाव में हो तो राजभीरू, विरोधी होता है। 3. तीसरे भाव में केतु हो तो चंचल, वात रोगी, व्यर्थवादी होता है। 4. चौथे भाव में हो तो चंचल, वाचाल, निरुत्साही होता …

कुंडली के बारह भाव में केतु का फल – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – kundalee ke baarah bhaav mein ketu ka phal – Aathavaan Din Read More »

ketu - ketu grah - prabhaav aur upaay

केतु – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din

केतु – दरवेश आकबत अन्देश दुनिया की आवाज़ दरगाह में पहुंचाने वाला दरवेश कुत्ता, मौत के यम की आमद पहले बताये। दुनियावी कारोबार के हल करने के लिये इधर उधर सलाह मशवरे के लिये दौड़ धूप का 48 साला उम्र का ज़माना केतु का दौर दौरा है। ज़र्द बृहस्पति, सुर्ख मंगल, अण्डे का रंग बुध …

केतु – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din Read More »

ketu ka gyaarahaven bhaav - ketu grah - prabhaav aur upaay

केतु का ग्यारहवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka gyaarahaven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din

केतु का ग्यारहवें भाव में फल यहाँ केतु बहुत अच्छा माना जाता है। यह धन देता है। यह घर बृहस्पति और शनि से प्रभावित होता है। यदि केतु यहाँ शुभ हो, और शनि तीसरे घर में हो तो यह बहुत धन देता है, जातक के द्वारा अर्जित धन उसके पैतृक धन से अधिक होगा, लेकिन …

केतु का ग्यारहवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka gyaarahaven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din Read More »

ketu ka baarahaven bhaav - ketu grah - prabhaav aur upaay

केतु का बारहवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka baarahaven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din

केतु का बारहवें भाव में फल यहाँ केतु को उच्च का माना जाता है। जातक अमीर होगा, बडा पद प्राप्त करेगा, और अच्छे कामों को समर्पित होगा। यदि राहू छठवें भाव में बुध के साथ हो तो बेहतर परिणाम मिलते हैं। जातक को सभी तरह के लाभ और विलासिता की चीजों की प्राप्ति होती है। …

केतु का बारहवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka baarahaven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din Read More »

ketu ka dasaven bhaav - ketu grah - prabhaav aur upaay

केतु का दसवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka dasaven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din

केतु का दसवें भाव में फल दसवां घर शनि का होता है। यहाँ के केतु के परिणाम शनि की प्रकृति पर निर्भर करते हैं। यदि केतु शुभ हो तो जातक भाग्यशाली होता, अपने बारे में चिन्ता करने वाला होता है और अवसरवादी होता है। उसके पिता की मृत्यु जल्दी हो जाती है। यदि शनि छठवें …

केतु का दसवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka dasaven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din Read More »

ketu ka saataven bhaav - ketu grah - prabhaav aur upaay

केतु का सातवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka saataven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din

केतु का सातवें भाव में फल सातवां घर बुध और शुक्र का होता है। यदि सातवें भाव में स्थित केतू शुभ हो तो जातक चौबीस साल से लेकर चालीस साल तक खूब धन कमाएगा। जातक के बच्चों के अनुपात में धन की बृद्धि होती है। जातक के दुश्मन जातक से डरते हैं। यदि जातक को …

केतु का सातवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka saataven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din Read More »

ketu ka aathaven bhaav - ketu grah - prabhaav aur upaay

केतु का आठवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka aathaven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din

केतु का आठवें भाव में फल आठवां घर मंगल ग्रह का है, जो केतु का शत्रु है। यदि आठवें भाव में केतू शुभ है तो जातक को चौंतीस साल की उम्र में अथवा जात्क की बहन या पुत्री की शादी के बाद पुत्र की प्राप्ति होती है। यदि बृहस्पति या मंगल छठवें या बारहवें घर …

केतु का आठवें भाव – केतु ग्रह – प्रभाव और उपाय – आठवाँ दिन – Day 8 – 21 Din me kundli padhna sikhe – ketu ka aathaven bhaav – ketu grah – prabhaav aur upaay – Aathavaan Din Read More »